स्वास्थ्य सेवाएं ठप

प्रसूता की मौत के बाद घोसवरी प्रखंड प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में तोड़फोड़ की घटना के बाद मंगलवार को सिविल सर्जन प्रमोद कुमार झा ने पीएचसी का निरीक्षण किया। तोड़फोड़ में हुए नुकसान का भी उन्होंने आकलन किया है। फिलहाल स्वास्थ्य सेवाएं पूरी तरह से ठप हो गई हैं। ग्रामीणों के हमले में पीएचसी प्रभारी रमेश प्रसाद सिंह और एक एएनएम जख्मी हुए हैं। घटना से डरे स्वास्थ्यकर्मियों और चिकित्सकों ने इस माहौल में काम करने से इंकार कर दिया है।
सिविल सर्जन तथा प्रशासन की मौजूदगी में पीएचसी के बंद कमरों का ताला खुलवाया गया और नुकसान का आकलन किया गया। कंप्यूटर, एंबुलेंस सहित सभी उपकरणों को पूरी तरह से क्षतिग्रस्त पाया गया है। एक भी उपकरण काम करता हुआ नहीं पाया गया। फर्नीचरों को भी व्यापक नुकसान पहुंचा है। सिविल सर्जन ने बताया कि घटना से डरे चिकित्सकों और स्वास्थ्य कर्मियों ने काम करने में असमर्थता जताई है लेकिन उनको पीएससी में मौजूद रहने को कहा गया है। सिविल सर्जन ने बताया के घटनाक्रम की पूरी जानकारी डीएम को दी जाएगी। पीएचसी प्रभारी भी जख्मी हालत में कहीं इलाज कराने गए हुए हैं। पीएचसी प्रभारी ने महिला की मौत मामले में लापरवाही से इनकार करते हुए कहा महिला की तबीयत बिगड़ी और उसे सामान्य करने का प्रयास किया गया लेकिन हालात नहीं संभलने पर ही रेफर किया गया था।
(सौजन्य भास्कर)

Comments are closed.