मोकामा से बोल रहा हूं,मरने से कौन कौन बचाएगा

संभल जाओ बीडीओ.., मोकामा से बोल रहा हूं,मरने से कौन कौन बचाएगा

संभल जाओ बीडीओ.., मोकामा से बोल रहा हूं

संभल जाओ बीडीओ मोकामा से बोल रहा हूं। सिमरी प्रखंड प्रमुख से टकराए हो, बहुत जल्द इसके गंभीर परिणाम भुगतने के लिए तैयार हो जाओ। कुछ इस तरह का धमकी भरा फोन सिमरी बीडीओ सुनील कुमार .

संभल जाओ बीडीओ मोकामा से बोल रहा हूं। सिमरी प्रखंड प्रमुख से टकराए हो, बहुत जल्द इसके गंभीर परिणाम भुगतने के लिए तैयार हो जाओ। कुछ इस तरह का धमकी भरा फोन सिमरी बीडीओ सुनील कुमार गौतम के सरकारी मोबाइल पर आते ही प्रशासनिक महकमे में खलबली मच गई।मोकामा से बोल रहा हूं

हुआ यूं कि गत 14 अक्टूबर की शाम सिमरी बीडीओ डीएम द्वारा आयोजित निर्वाचन की बैठक में भाग ले रहे थे। तभी उनके सरकारी नंबर पर अज्ञात नंबर से फोन आया। फोन करने वाले ने स्वयं को मोकामा क्षेत्र से होने की बात कह पहले तो बीडीओ का परिचय पूछा। उसके बाद सख्त लहजे में कहा कि सिमरी प्रमुख से टकराए हो। तुम्हें इसका परिणाम भुगतना पड़ेगा। अब तुम्हें मरने से कौन बचाता है, हम देखते हैं। इसके बाद बगैर अपना परिचय दिए उस व्यक्ति ने फोन काट दिया। बीडीओ सुनील कुमार गौतम ने तत्काल पूरे मामले की जानकारी बैठक में उपस्थित साथी बीडीओ के साथ ही जिला पदाधिकारी राघवेंद्र ¨सह को दी। इस मामले में अगले दिन बीडीओ द्वारा फोन करने वाले अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ सिमरी थाने में प्राथमिकी दर्ज करने के लिए लिखित शिकायत दी गयी है।

उधर, इस घटना के बाद प्रशासन ने बीडीओ की सुरक्षा को बढ़ा दिया है। सुरक्षा के लिहाज से बीडीओ को चार एक का फोर्स मुहैया कराया गया है। इस आलोक में सिमरी थाना अध्यक्ष रंजीत कुमार का कहना है कि बीडीओ द्वारा प्राप्त शिकायत के आलोक में प्राथमिकी दर्ज कर पुलिस संबंधित नंबर की पड़ताल कर रही है। वहीं, प्रमुख प्रतिनिधि नीरज पाठक का कहना है कि इस पूरे प्रकरण से मेरा और प्रमुख का कोई लेना देना नहीं है।

(सौजन्य:-दैनिक जागरण)

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.