पीटकर किया अधमरा

घोसवरी के मछुआरे शंकर साहनी को पीटकर अधमरा कर दिया

घोसवरी  मछुआरे को पीटकर किया अधमरा, थाने पर पथराव

घोसवरी थाने के पैजुना में दबंगों ने मछुआरे शंकर साहनी को पीटकर अधमरा कर दिया. घटना के विरोध में शनिवार को मछुआरों ने जुट कर थाने पर पथराव किया. वहीं, तकरीबन चार घंटे तक थाने के सामने एनएच 82 पर डटे रहे. मछुआरों को उग्र देखकर वाहन सवारों के बीच अफरा-तफरी मच गयी. बताया जा रहा है कि बाढ़ के पानी में मछली मारने के दौरान भूल्ली यादव व उसके समर्थकों ने शंकर को बेरहमी से पीटा.

घोसवरी के  मछुआरे शंकर साहनी को पीटकर अधमरा कर दिया
घोसवरी के मछुआरे शंकर साहनी को पीटकर अधमरा कर दिया
इसका विरोध करने पर उसके परिवार की महिलाओं के साथ भी दुर्व्यवहार किया गया. पीड़ित परिवार ने घटना की शिकायत थाने में जाकर की. पीएचसी में प्राथमिक उपचार के बाद शंकर को पटना रेफर कर दिया गया. घटना की जानकारी मिलते ही  निषाद समाज की सैकड़ों महिलाएं व युवकों ने थाने को घेर लिया.
उन्होंने झंडा लहराकर पुलिस के खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी. मौके पर मौजूद पुलिसकर्मियों के समझाने के बाद भी विरोध- प्रदर्शन कर रहे लाेग उग्र होकर पत्थरबाजी करने लगे. पुलिसकर्मियों ने छिप कर अपनी जान बचायी. बाद में हथिदह, मोकामा व आसपास केथानों की पुलिस ने मिल कर मामले को शांत  कराने का प्रयास शुरू किया, लेकिन उग्र लोग आरोपित की गिरफ्तारी की मांग पर अड़ गये.
मछुआरों का नेतृत्व कर रहे शारदा देवी, अजय कुमार बिंद आदि ने आरोप लगाया कि पुलिस ने दबंगों के खिलाफ कार्रवाई में कोताही बरती. इधर, दबंगों की भय से मछुआरे अपने घरों में दुबके हैं. इससे उनकी जीविका पर आफत आ गयी है. मछुआरों के हंगामे से एनएच पर घंटों वाहनों की कतार लगी रही. बाद में स्थानीय प्रशासन ने किसी तरह समझा- बुझा कर मामले को शांत कराया. पुलिस ने आरोपितों की शीघ्र गिरफ्तारी का भरोसा दिलाया. तब जाकर आक्रोशित लोग वापस लौटे.

बदमाशों की जा रही पहचान

इस संबंध में थानेदार विभूति भूषण कुमार ने बताया कि भीड़ को गुमराह कर थाने का घेराव कराया गया. वहीं, भीड़ में घुसे असामाजिक तत्वों ने थाने पर पत्थर फेंके. पत्थरबाजी व हंगामे मामले में एफआईआर दर्ज की गयी है. वहीं असमाजिक तत्वों की पहचान कर उन्हें गिरफ्तार किया जायेगा.(सौजन्य:-प्रभात खबर)

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.