मोकामा ऑनलाइन

भारत बंद में भी मोकामा वालों ने एम्बुलेंस को दिया रास्ता

यूँ तो मोकामा का नाम जायदातर मोकामा टाल ,किसान,मसूर,चना ,और यंहा के युवाओं के देश भर में अनेको योगदान के लिए जाना जाता है.मोकामा के नये नये उभरते लेखक और कवी ने मगध की इस माट्टी का नाम रौशन किया है.सिनीवाली शर्मा,विनायक शर्मा,रविश, जैसे कलमकारों को आज पूरा भारत जनता है.मगर आज जो हुआ वह मानवता के लिए यादगार पल है.देश भर में पेट्रोल की बढ़ी कीमतों को लेकर भारत बंद में एक तरफ जहां जगह-जगह से प्रदर्शन और तोड़फोड़ की खबर सामने आ रही है. वहीं बिहार के पटना जिला मोकामा से एक अच्छी खबर सामने आई है. मानवता की मिसाल देते हुए लोगों ने एक एम्बुलेंस को जाने का रास्ता दिया . दरअसल यहां बंद के दौरान जाम में फंसी एक एम्बुलेंस को कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने जाम हटवाकर जाने दिया. इससे मरीज को सही समय पर इलाज मिल सका.

दरअसल पूर्व मंत्री श्याम सुंदर सिंह धीरज मोकामा के मरांची गांव में विरोध प्रदर्शन पर बैठे हुए थे. कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने धीरज के नेतृत्व में सड़कों पर जाम लगा रखा था. इसी दौरान एक एम्बुलेंस गाड़ी वहां पर आ गई, तभी सड़क जाम में फंसे वाहनों को साइड करवा कर मंत्री ने खुद एम्बुलेंस को निकलवाया. जाम भी कुछ देर के लिए हटा दिया गया.

गाड़ी को निकाल देने के बाद वापस कांग्रेस कार्यकर्ता सड़कों पर बैठ गए. जाम के बीच एम्बुलेंस को रास्ता देने के निर्णय को स्थानीय लोगों ने भी काफी सराहना की. वहीं गाड़ी में मौजूद मरीज को भी सही समय पर इलाज मिलने से उसकी जान बच गई.(सौजन्य:-न्यूज़ 18 )मोकामा ऑनलाइन भारत बंद में एम्बुलेंस को रास्ता दिया.मोकामा में मानवता की नयी मिसाल [/caption]