भारत बेंगन बनेगा मेमू रिपेयरिंग वर्कशॉप

डीआरएम के भारत वैगन कंपनी के निरीक्षण पर इलाके में र्चचा ,अधिकारी ने कुछ भी बताने से किया इनकार.दानापुर रेल मंडल के डीआरएम रंजन प्रकाश ठाकुर ने शुक्रवार को भारत वैगन की बंद पड़ी कंपनी का निरीक्षण किया। बताया जा रहा है कि पूमरे महाप्रबंधक के निर्देश पर डीआरएम ने कंपनी का जायजा लिया। रेलवे ने भारत वैगन कंपनी का अधिग्रहण कर लिया था। पिछले साल आर्थिक मामलों की कैबिनेट समिति ने इसे बंद करने का प्रस्ताव दिया था। लगातार घाटे में चल रही कंपनी को बंद करने का निर्णय इलाके के लोगों के लिए निराशाजनक था। डीआरएम के दौरे से एक नई उम्मीद जगी है। हालांकि डीआरएम ने अपने दौरे के बारे में कुछ भी स्पष्ट रूप से बताने से इनकार किया है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार भारत वैगन कंपनी की 30 एकड़ से अधिक बेकार पड़ी जमीन का रेलवे इस्तेमाल करना चाह रहा है।

सूत्रों की मानें तो रेलवे यहां मेमू रिपेयरिंग वर्कशॉप खोलने की योजना बना रहा है। पूमरे के महाप्रबंधक जब पिछले दिनों मोकामा आए थे तो भाजपा नेता डॉ. राम सागर सिंह ने जीएम का ध्यान भारत वैगन कंपनी की ओर आकृष्ट किया था तथा यह बताया था कि रेलवे चाहे तो इसका उपयोग दूसरी परियोजना के लिए कर सकता है। माना जा रहा है कि पूमरे महाप्रबंधक भी भारत वैगन की बेकार पड़ी जमीन को लेकर चिंतित थे। रेल सूत्रों के अनुसार यहां कुछ नया होने की पूरी संभावना है। गौरतलब है कि मोकामा के भारत वैगन कंपनी की स्थापना भारत भारी उद्योग मंत्रालय के द्वारा की गई थी। यूपीए-1 के दौरान रेल मंत्री रहे लालू प्रसाद यादव ने रेलवे में इस कंपनी का अधिग्रहण किया था। भारत वैगन की पहचान बीमार इकाई के तौर पर हो गई थी। रेलवे द्वारा अधिग्रहण किए जाने के बाद इसके कायाकल्प की उम्मीद जगी थी लेकिन यूपीए-2 में इस परियोजना पर ध्यान नहीं दिया गया। बंगाल की कंपनियों का यूपीए-2 की रेल मंत्री ममता बनर्जी ने अधिग्रहण किया तथा उन कंपनियों को पूरा पैकेज दिया गया लेकिन मोकामा भारत वैगन कंपनी इससे वंचित रह गई। कंपनी का घाटा बढ़ता चला गया और आखिरकार इसे बंद करने की सिफारिश करनी पड़ गई थी।द सहारा न्यूज ब्यूरोमोकामा