Spread the love

धर्म के बंधनों को तोड़कर और कट्टरपंथियों को धता बताकर एक मुस्लिम लड़की ने हिन्दू लड़के के साथ प्रेम विवाह कर धर्म के ठेकेदारों को करार जवाब दिया है. परिवार की असहमति के बाद भी दोनों ने विवाह किया. परिवार का दवाब जब ज्यादा बढ़ने लगा तब दोनों मोकामा थाना पहुंच गए और सुरक्षा की गुहार लगाने लगे. बिहार के मोकामा में धर्म का बंधन तोड़ लड़की ने किया प्रेम विवाह किया तो लोगों ने फैसले की सराहना की.

रोजी और लक्ष्मण ने रचाया विवाह

मोकामा नगर परिषद क्षेत्र के रामचरण टोला निवासी मो.मुस्तफा की पुत्री रोजी खातून (19) का प्रेम प्रसंग मोकामा थाना क्षेत्र के बरहपुर के शरण मलिक के पुत्र लक्ष्मण मलिक (24) से चल रहा था. काफी महीनों से दोनों में प्रेम प्रसंग चल रहा था. घरवाले शादी को तैयार नहीं थे. दोनों हर हाल में शादी करने के लिए उत्सुक थे. जब परिवार वाले शादी को तैयार नहीं हुए तो दोनों ने घरवालों की मर्जी के बगैर शादी करने का फैसला किया. फैसले में रिस्क था लेकिन वो प्रेम क्या जो रिस्क न ले. परिवार वालों की इच्छा के बगैर ही दोनों ने समाज की परवाह किए बगैर धर्म का बंधन तोड़ दिया और दोनों परिणय सूत्र में बंध गए.

तीन साल से चल रहा था प्रेम-प्रसंग

लक्ष्मण के मुताबिक इन दोनों का प्रेम-प्रसंग पिछले 3 वर्षों से चल रहा था. घर से बिना बताए उन्होंने बीते 11 नवंबर को गया कोर्ट में शादी कर ली. शादी के कुछ दिनों पश्चात लड़का अपनी दुल्हन को अपने घर ले गया. दुल्हन को घर ले जाते ही लक्ष्मण के परिवारवाले बिदक गए. लक्ष्मण के समझाने पर उसके घरवाले मन गए. लड़के के परिजनों ने लड़की को अपने घर की बहू स्वीकार कर लिया. दूसरी और लड़की पक्ष को यह रिश्ता पसंद नहीं आया और उन्होंने लड़के के घर जाकर लड़के वालों को भला-बुरा कहा और धमकी भी दी.

मोकामा थाना पहुंच गए प्रेमी युगल

रोजी खातून के घरवालों की तरफ से दवाब बढ़ता देख लड़का और लड़की दोनों ने मोकामा थाने में पहुंच अपनी सुरक्षा की गुहार लगाई. मोकामा थाने में दोनों पक्ष के परिजनों को बुलाया गया. मौके पर बरहपुर पंचायत के सरपंच भी उपस्थित रहे. पुलिसकर्मी एवं सरपंच के समझाने पर दोनों पक्ष सहमत हो गए और दोनों पक्षों ने एक दूसरे से गले मिल संबंध स्वीकार किया.

धर्म का बंधन तोड़ लड़की ने किया प्रेम विवाह

Leave a Reply