1945-46 से ही मोकामा आ रहे थे अटल जी

मोकामा और अटल जी

मोकामा। मोकामा और पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का काफी लगाव रहा। सन 1974 के आंदोलन के दौरान अटल जी मोकामा में महीनों अज्ञातवास में रहे। तब इसकी जानकारी सिर्फ आनंद स्वरूप जी को हुआ करती थी। उसी दौरान मोकामा थाना क्षेत्र के ही मोर गांव निवासी पार्टी कार्यकर्ता आदित्य बाबू के यहां गोविंदाचार्य अज्ञातवास में रह रहे थे ।देश की आजादी से पूर्व 1945-46 से ही संघ के कार्य से अटल जी का मोकामा आना-जाना लगा रहा। तब नगर परिषद मोकामा के धौरानी टोला निवासी स्वर्गीय बैकुंठ शर्मा मोकामा में संघ प्रमुख हुआ करते थे। अटल जी का बैकुंठ शर्मा से गहरा संबंध रहा। सन 1960-62 में अटल जी का मोकामा में दवा के व्यवसायी आनंद स्वरूप जी से गहरी आत्मीयता बनी, जो उनके प्रधानमंत्री बनने तक कायम रहा।

पार्टी प्रचारक के रूप में अटल जी ने आनंद स्वरूप, मोलदियार टोला निवासी देबू बाबू और सकरवार टोला निवासी राजेंद्र सिंह के साथ लंबे समय तक कार्य किया। 1968 में सकरवार टोला के वेंकटेश नारायण सिंह के साथ उनका जुड़ाव तब हुआ, वे विधानसभा चुनाव में प्रत्याशी बने। साभार : हिंदुस्तान

Comments are closed.