Spread the love

मोकामा-बाढ़ मुख्य मार्ग से राजेन्द्रनगर आरपीएफ ने गुरुवार को वेटनरी डॉक्टर अरुण कुमार को गिरफ्तार किया। बाढ़ में स्थापित डॉक्टर अरुण को गिरफ्तार कर पटना लाया गया है। ऑफिस से निकले पशु चिकित्सक को जबरन गाड़ी में बैठाते देख बाढ़-मोकामा में अपहरण का हल्ला हो गया।

सोशल साइट पर एक डॉक्टर के अपहरण होने की खबर फैलने लगी। इसी दौरान राजेन्द्रनगर आरपीएफ ने डॉक्टर की गिरफ्तारी की पुष्टि की। आरपीएफ इंस्पेक्टर ने बताया कि बीते नवम्बर में राजेन्द्रनगर में हंगामा के कारण विधि-व्यवस्था बिगड़ गई थी। हंगामा कर रहे लोगों की फोटो से पहचान कर कार्रवाई की गई है। हंगामा में डॉक्टर भी शामिल थे। उनके मोबाइल लोकेशन व अन्य साक्ष्यों के आधार पर गिरफ्तारी हुई है।

क्या था मामला : बीते नवम्बर में राजेन्द्रनगर स्टेशन पर इंटरसिटी एक्सप्रेस के यात्रियों ने जमकर हंगामा किया था। आरपीएफ के मुताबिक डा. अरुण कुमार सिन्हा भी भीड़ में शामिल थे। मूल रूप से नालंदा निवासी डा. अरुण पटनासिटी के कुम्हरार में अपने परिवार के साथ रहते है। राजेन्द्रनगर स्टेशन से प्रतिदिन बाढ़ कार्यालय में ड्यूटी करने जाते हैं।

वेटनरी डॉक्टर अरुण कुमार गिरफ्तार