भव्य परशुराम मंदिर निर्माण के लिए दंडी स्वामी अनन्तानंद सरस्वती जी ने नींव रखी

भगवान परशुराम सनातन धर्म के मान्यता के अनुसार जिवित और चिरंजीवी देव हैं और 24 अवतारों में छठवे अवतार हैं उनके द्वारा मानवता के अभ्युदय एवं उत्कर्ष हेतु संपादित कर्मों को ध्यान में रखकर बिहार की संपूर्ण जनता ने मोकामा के अतिप्राचीन परशुराम मंदिर के भव्य स्वरूप देने हेतु आज दिनांक 27/04/2018को राजगुरु मठ पीठाधीश्वर दंडी स्वामी अनन्तानंद सरस्वती जी के हाथों शिलान्यास किया गया और समस्त परशुराम भक्तों ने स्वामीजी के समक्ष एक संकल्प लिया कि मंदिर की ऊँचाई कम से कम 108 फीट हो और पूर्ण रुप से चुनार के पत्थरों से निर्मित हो । पूजा अर्चना नरेन्द्र. देव द्वारा किया गया और कार्यक्रम की अध्यक्षता संजित सिंह द्वारा किया गया । गरिमामय उपस्थिति .. मोकामा से आनंद मुरारी, संजीव, रौशन, प्रणव शेखर शाही के साथ परशुराम सेवा समिति के तमाम सदस्य। ब्रजेश पासवान , कुंदन पासवान बिहार शरीफ, निखिल चौधरी, बाल्मीकि कुमार, अमित कुमार राम लखन सिंह सोनु जी एवं अविनाश जी भी बाहर से आकर अपनी गरिमामय उपस्थिति दर्ज कराया ।