Spread the love

मोकामा के नाजरथ में धूमधाम से मना क्रिसमस .फादर  ने संबोधन में कहा प्रभु यीशू को परमेश्वर ने संसार में पाप का अंत करने के लिए भेजा था न की पापियों के अंत के लिए. उन्होनें संसार के सभी प्राणियों को आपस में प्रेम भाव से रहने का संदेश दिया था.

मोकामा के आस पास के गावं से लोग क्रिसमस मनाने चर्च में आये.बच्चों  अनोखा उत्साह था.

जीसस क्राइस्ट के जन्मदिन के मौके पर मनाए जाने वाले इस त्योहार में ईसाई धर्म के लोगो ने बढ़ चढ़ कर हिस्सा लिया जबकि एनी धर्मो के लोगो ने भी यीशु को याद किया.मोकामा के नाजरथ चर्च का  दुनियाभर के चर्च में एक अहम् स्थान है.येसी मान्यता है की माँ मरियाक्म को यन देखा गया है.लोग  सुबह से ही प्रार्थना के लिए चर्च जा रहे थे जबकि  रात 12 बजे जीसस के जन्म के साथ ही लोग एक दूसरे को गले लगकर बधाई दे रहे  थे . चर्च में आए सभी लोगों को पादरी ने आशीर्वाद दिया , इसके बाद सभी लोगो ने  आपस में गिफ्ट्स और केक शेयर किया .

धूमधाम से मना क्रिसमस