+91 999436770

Home » Articles posted by suryaraj

Author Archives: suryaraj

ओछी सोच

किसी गाव में एक किसान  रहते थे। पति जो भी बोलते पत्नी ठीक उसके विपरीत करती थी। नतीजा ये हुआ उसे कभी कभी भूखे सो जाता था क्योकि उसकी पत्नी जो उसे पसंद रहता पत्नी ठीक उसके विपरीत बनाती थी। कुछ समय बीत जाने पर उसका पति समझ गया की मेरी पत्नी मेरे विपरीत सोचती […]

अपना दर्द

एक सुनार था, उसकी दुकान से मिली हुई एक लोहार की दुकान थी। सुनार जब काम करता तो उसकी दुकान से बहुत धीमी आवाज़ आती, किन्तु जब लोहार काम करता तो उसकी दुकान से कानों को फाड़ देने वाली आवाज़ सुनाई देती। एक दिन एक सोने का कण छिटक कर लोहार की दुकान में आ […]

शरारती बालक

स्कूल में अध्यापक बच्चे को पढ़ा रहे थे । तभी एक बच्चा बोला श्रीमान प्यास लगी है,अध्यापक ने देखा एक महिला मिट्टी के बर्तन में कुएं से पानी भर रही हैं । अध्यापक बोले उस महिला के पास जाओ और बोलना माँ मुझे पानी दो, कुछ ही देर में बच्चा रोते हुए पास आया और […]

रामलखन सिंह महिला कॉलेज । यह मोकामा शहर के बीच में स्थित है। यह कॉलेज मोलदियार टोला वार्ड न॰-11 में स्थित है। सूर्य राज

वो रात दीवाली होगी!

रोशनी से भरा चमन होगा, दीपों से भरी हर डाली होगी, वो रात दीवाली होगी…वो रात दीवाली होगी… बॉंटेगा हर कोई खुशियॉं इधर उधर, होगी खुशहाली हर आँगन होगी, रंग बिरंगी चिंगारी से भरा होगा आसमाँ, बेचारे चाँद के लिए भी जगह खाली न होगी, वो रात दीवाली होगी……वो रात दीवाली होगी