मोकामा
समाचार

पीड़ित परिवार से मिले सांसद अरुण कुमार

Spread the love

31 जनवरी को हुए सडक हादसे में मोकामा के 2 युवक हिमांशु और पशुपति  की मौत हो गई थी ,जबकि सुशांत  का इलाज अभी पटना के पारस  अस्पताल में चल रहा है .जहानावाद से वर्तमान सांसद अरुण कुमार मोकामा आकर दुखी परिवार से मिले और हर संभव सहायता की पेशकस की.नए साल का पहला महिना मोकामा के इतिहास का सबसे काला समय काल है.मोकामा के लोग जितने इस महीने काल कवलित हुए शायद ही उतने कभी हुए हों.सकरवार के शोक से शुरू होकर ये मोलदियार के मातम तक हर दिन ये महिना रुलाता रहा.मोकामा (बिहार) के लिए वर्ष 2018 अब तक गमगीन रहा है। 1 जनवरी को सिलीगुड़ी घूमने गए 2 युवाओं की एक सड़क हादसे में मौत हो गयी और महीने के अंतिम दिन आज 31 जनवरी को फिर से पटना फोरलेन पर एक एसयूवी हादसे में 2 युवाओं की दर्दनाक मौत हो गयी तो 3 अन्य युवक अस्पताल में हैं।

पास के ही एक अन्य गांव बरहपुर में इस महीने ही सड़क दुर्घटना में एक 12वीं कक्षा के छात्र की मौत हो गयी थी। इसके अलावा इसी महीने स्थानीय कॉलेज में कार्यरत कर्मचारी की मौत हुई तो कहा गया कि महीनों से वेतन नहीं मिलने के कारण उनकी मौत हो गई। इसी तरह सकरवार टोला में एक और युवक की असामयिक मौत हुई तो पिछले सप्ताह ही मोलदियार टोला में एक मेरे पड़ोसी अचानक गिरे और उनकी मौत हो गई। इसके अतिरिक्त कई बुजुर्ग लोग भी दुनिया छोड़ गए। यानी यह पूरा महीना सिर्फ मौत का महीना रहा है।

ये भी पढ़िए
अलविदा भाई
मातम का महिना ,हर आँख में पानी है
जालिम जनवरी:-सकरवार का शोक,मोलदियार का मातम