Home » सामाजिक » बेहतरीन है ….सिखारीचक

बेहतरीन है ….सिखारीचक

सिखारीचक, पटना जिला मुख्यालय से 90 किलोमीटर दूर पूरब दिशा में मोकामा थाना के पूर्वी छोड़ पर गंगा किनारे बसा बेहद खूबसूरत गांव है। यह भारत के सभी प्रमुख शहरों से रेल और सड़क मार्ग से जुड़ा हुआ है। गंगा नदी के किनारे स्थित मोकामा रेलवे स्टेशन हावड़ा-नई दिल्ली मेन लाइन का एक प्रमुख केन्द्र है और सिखारीचक जाने के लिए मोकामा ही समीपवर्त्ती रेलवे स्टेशन है।
गांव के उत्तरी छोड़ पर मनोरम और पावन नदी गंगा बहती है और सिखारीचक का गंगा घाट काफी रमणीय है। घाट के एक छोड़ पर (सीआरपीएफ कैम्प के बाद) बेहद खूबसूरत शिव मंदिर है। मंदिर परिसर के उत्तरी हिस्से पर भगवान शिव और माता भगवती का मंदिर है जो काफी जागृत मंदिर माना जाता है। सिखारीचक गांव के साथ ही आसपास के क्षेत्र के लोग भी भक्तिभाव लिए श्रद्धा से यहां आते हैं। मंदिर में दिन भर पूजा अर्चना के साथ ही प्रतिदिन शाम में स्थानीय महिलाओं द्वारा लोक भजन गाया जाता है। मंदिर परिसर के पूर्वी हिस्से पर माता विषहरी का भव्य मंदिर है, जहां प्रतिवर्ष नागपंचमी पर पूजा का भव्य आयोजन होता है। परिसर के दक्षिण-पूर्वी हिस्से पर खूबसूरत गायत्री मंदिर है जहां श्रद्धालु लगातार माता की पूजा-आरती करते दिखते हैं। पिछले कुछ वर्षों में स्थानीय संस्थाओं द्वारा तीन बार भव्य गायत्री यज्ञ का भी आयोजन किया जा चुका है। वहीं मोकामा में भगवान परशुराम का भव्य मंदिर है जो स्थानीय ग्रामवासियों के लिए भी आस्था का प्रमुख केन्द्र है।
सिखारीचक गांव की आबादी लगभग 5000 है, जिसमें सभी धर्म-जाति के लोग शामिल हैं और समुदाय और सम्प्रदायों के बीच काफी सौहार्दपूर्ण वातावरण बना रहता है। गांव में लगभग 60 प्रतिशत किसान हैं जो पारंपरागतत्ता के साथ आधुनिक खेती के साथ भी जुड़े हैं। मोकाम टाल जो दलहन उत्पादन के लिए राष्ट्रीय स्तर पर प्रसिद्ध है, उसी टाल में सिखारीचक गांव के किसान भी खेती करते हैं। सिखारीचक में पिछले 30 वर्षों से सरकारी नलकूपों का उपयोग किया जा रहा है जिससे इसकी पहचान देश के कुछ चुनिंदा गांवों में होती है।
कृषि के साथ ही शिक्षा के क्षेत्र में भी सिखारीचक का इतिहास स्वर्णिम रहा है। लंबे समय से ही इस गांव की संस्कृति रही है कि आप सैद्धांतिक रूप से कार्य करें और दूसरों को भी उसी अनुरूप कार्य करने के लिए प्ररित करें, जो आज भी बरकरार है। शिक्षा, सिद्धांत और व्यवहार की उसी गुणवत्ता के कारण बड़ी संख्या में गांव के लोग विभिन्न सरकारी और निजी क्षेत्रों में कार्यरत हैं। साथ ही यहां के लोग न केवल देश बल्कि विदेशों में भी अपनी बुद्धिमत्ता के बल पर बुलंदियों को छू रहे हैं।
मोकामा एक प्रमुख औद्योगिक क्षेत्र भी है, जहां बाटा इंडिया, मैक्डोवल कं., सूत मिल, रेलवे कोच फैक्ट्री (भारत वैगन), साथ ही भारतीय खाद्य निगम (एफसीआई) का गोदाम आदि हैं जिनमें गांव के लोगों को काम करने के विविध अवसर मिले हैं। इसके साथ ही मोकामा घाट में केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) और रेलवे सुरक्षा बल (आरपीएफ) का प्रशिक्षण केन्द्र भी है और इन सबके साथ एक बेहद खूबसूरत सा बाजार ।
सिखारीचक नगरपालिका क्षेत्र के अंतर्गत आता है और नागरिकों के लिए यहां सभी प्रकार की सुविधाएं मिलती हैं। पेयजल आपूर्ति के लिए यहां विशाल पानी की टंकी है। गांव के चारों ओर कंक्रीट की सड़कें और गलियां हैं। गांव में 4 दशक पूर्व से ही बिजली की सप्लाई हो रही है। यहां के मिडिल स्कूल और मोकामा घाट हाई स्कूल का इतिहास काफी स्वर्णिम रहा है। राष्ट्रकवि रामधारी सिंह दिनकर की प्राथमिक शिक्षा मोकामाघाट में ही हुई थी। इसके साथ ही गांव के छात्र कॉलेज की शिक्षा के लिए मोकामा स्थित रामरतन सिंह महाविद्यालय में जाते हैं।
सिखारीचक गांव के लोग शांति और सद्भाव से सभी तीज-त्यौहार मनाते हैं और एक दूसरे की खुशियों में सरीक होते हैं। त्यौहारों के साथ ही गांव के लोग कई प्रकार के सांस्कृतिक और सामाजिक आयोजन भी समय समय पर करते रहते हैं। इसके साथ ही खेल के क्षेत्र में भी सिखारीचक के खिला़ड़ियों ने कई उपलब्धियों को हासिल किया गया है। यहां की स्थानीय इलेवन स्टार फुटबॉल टीम का पटना जिला में प्रमुख स्थान है और कई खिलाड़ी वर्तमान में खेल कोटे से विभिन्न क्षेत्रों में चयनित हुए हैं। इन सभी के साथ आस्था का महापर्व छठ हर घर में वर्ष का प्रमुख आयोजन रहता है जिसमें सभी परंपरागत तरीके से शामिल होते हैं। एक बेहतरीन, खूबसूरत और सबसे जुदा हमारा प्यारा गांव सिखारीचक …. जिस पर हमें गर्व है।

(संकलन का अनुवाद)

6 Responsesso far.

  1. Anjani kumar singh says:

    आपका बहुत बहुत धन्यवाद . आपने तो संकलन का इतना ख़ूबसूरत अनुवाद किया है की हमारे छोटे गाँव को अतिसुंदर वना दिया. शब्द नहीं मिल रहे हैं. स्नेह सहित साभार ……

  2. Subhash Yadav. Very very thanks for real visibility in my village(mother land).

  3. Mere village brother(sikhari chak). ek bar jarur read kar

    aapko apne motherland ki kasam

  4. Miri motherland aapko sat sat nama

  5. Meri motherland aapko sat sat naman.sikhari chak details kindly read my facebook friend.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *