Home » समाचार » मोकामा घाट!

मोकामा घाट!

हमारे बाढ़ अनुमंडल में मोकामा प्रखंड का एक महत्वपूर्ण स्थान है ,जहाँ कि अनेक ऐतिहासिक स्थान और कहानियाँ मिलती हैं।
जिसमें से हम “मोकामा घाट ” के ऐतिहासिक विवरण को जानने की कोशिश करते हैं . जैसा की सब लोग जानते हैं, कि मोकामा प्रखंड में मोकामा घाट नामक एक स्थान है ,जो कि ब्रिटिश सरकार के समय से ही है .”मोकामा घाट” भारत का दूसरा बड़ा बंदरगाह हुआ करता था . जहाँ से ब्रिटिश सरकार के सामान का आयात एवं निर्यात का स्थल था .
“बाढ़” जो कि दाल के निर्यात के लिए प्रसिद्ध था , वह इसी स्थान “मोकामा घाट ” से सम्बन्ध रखता था . वहाँ पर छोटी रेलवे लाईन भी थी ,जिसपर की छोटी रेल चलती थी और दाल के बड़े -बड़े पाकेट को यंहा से बाहर निर्यात किया जाता था . इस रेलवे प्लेटफोर्म का अवशेष जैसे – फाईरिंग स्थल ,रेलवे पटरी ,रेलवे फाटक और जर्जर स्थिति में प्लेटफार्म की छावनी आज भी देखने को मिलती है .
आज की तारिख में इस जगह को CRPF का प्रशिक्षण केंद्र में तब्दील कर दिया गया है .
CRPF कैम्प के आने से हमारी ये धरोहर का धीरे-धीरे अंत होता जा रहा है .

Rakesh Raj

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *