Home » संपादकीय » Uncategorized » किशनगंज से गया जा रही बस मोकामा में गड्‌ढे में पलटी, छह यात्री गंभीर

किशनगंज से गया जा रही बस मोकामा में गड्‌ढे में पलटी, छह यात्री गंभीर

जलने से बाल-बाल बची बस
मोकामा . किशनगंजसे गया जा रही समीर ट्रेवल्स की बस मोकामा में कन्हाईपुर टोला गंगा प्रसाद के पास पलट गई। सोमवार तड़के साढ़े तीन बजे बस पलटने के बाद अफरातफरी मच गई। सभी घायलों को स्थानीय लोगों के सहयोग से तुरंत मोकामा के रेफरल अस्पताल लाया गया। 10 से अधिक यात्रियों को चोटें आई थीं, लेकिन छह की हालत गंभीर थी। गंभीर रूप से जख्मी तीन यात्रियों को पटना रेफर किया गया है। हादसे में चार माह के एक बच्चे को भी चोट आई थी लेकिन यात्रियों तथा स्थानीय लोगों की तत्परता से उसे सकुशल निकाल लिया गया। जानकारी के अनुसार, समीर ट्रेवल्स की बस बीआर11एल-0465 बस मोकामा होते हुए बख्तियारपुर की तरफ जा रही थी। कन्हाईपुर टोला गंगा प्रसाद के पास बस अचानक से पलट कर सड़क किनारे के गड्ढे में जा गिरी। हादसे के वक्त बस पर सवार यात्री सोए हुए थे। बस के पलटने से जोरों की आवाज हुई तो आसपास से स्थानीय लोग भी घटनास्थल पर जमा हो गए तथा सभी लोगों ने पुलिस की मदद से राहत और बचाव कार्य शुरू किया। गंभीर घायलों में रानी देवी-पावापुरी, नालंदा, बसंत रावत-नवादा, पूजा देवी-मरांची, मोकामा, अमरजीत कुमार- आरा, मनोज राम-बिहारशरीफ, अरविंद कुमार-बोधगया शामिल हैं।
दुर्घटनाग्रस्त बस पलटते हुए कई पेड़ों को उखाड़ दिया। टक्कर इतनी जोरदार थी कि एक पूरी बांसवाड़ी ही उखड़ गई। स्थानीय लोगों ने बताया कि घटनास्थल के पास 11 केवीए संचरण लाइन भी गुजरता है। हादसे के वक्त बिजली भी चालू थी लेकिन बस की टक्कर के बाद बांस तथा अन्य पेड़ों की टहनियों के टूटने से तार भी टूट गया और बिजली आपूर्ति बाधित हो गई। स्थानीय लोगों ने बताया कि यदि विद्युत आपूर्ति बाधित नहीं होती तो बड़ा हादसा हो सकता था। यात्रियों की किस्मत अच्छी थी कि हादसे के कारण बिजली आपूर्ति ठप हो गई।
बस यात्री ने सुनाई आपबीती
किशनगंज से यात्री गया के लिए चले थे। पूर्णिया और किशनगंज में सवार हुए अधिकांश लोग बेगूसराय में उतर गए थे और बस पर बमुश्किल 14-15 लोग ही थे। बस में सवार हम सभी लोग सोए हुए थे और अचानक से जोरों का झटका लगा और काफी तेज आवाज हुई। बस पलटी हुई थी और सभी यात्री इधर-उधर गिरे हुए थे। एकबारगी बस पर सवार सभी लोग चीखने-चिल्लाने लगे लेकिन स्थानीय लोग आए और किसी तरह हम लोगों को बाहर निकाला। मोकामा के बाटा मोड़ पर दो महिलाएं चार महीने के बच्चे के साथ बस में सवार हुई थी। बस के पलटने के मां की गोद से छिटक कर बच्चा बस की सीट के नीचे जा गिरा। बच्चे की मां के चिल्लाने पर सभी लोग बस के अंदर गए और बच्चे को ढूंढकर बाहर निकाला।

Source : Dainik Bhaskar

mkm

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *