Home » अपराध » ट्रक लूटकर माल खपाने वाले 4 बदमाश गिरफ्तार

ट्रक लूटकर माल खपाने वाले 4 बदमाश गिरफ्तार

खुलासा|बदमाशों कीतलाश जारी, लूटा गया ट्रक जसीडीह में मिला
मोकामा  . पिकअपवैन पर सवार होकर मोकामा बाईपास से गुजरने वाले ट्रकों को जबरन ओवरटेक कर रोकने और चालक-खलासी को हथियारों के बल पर कब्जे में लेकर ट्रक लूटने वाले गिरोह का मोकामा और हाथीदह थाना ने खुलासा कर दिया है। मोकामा और हाथीदह थाना की संयुक्त कार्रवाई में पुलिस ने पंडारक थाना अंतर्गत लेमुआबाद और दरगाही टोला गांवों में छापेमारी कर ट्रक लुटेरा गिरोह के सरगना समेत चार लुटेरों को गिरफ्तार किया। हालांकि गिरोह के सात से आठ सदस्य अब भी फरार हैं जिनकी तलाश में छापामारी की जा रही है। गिरफ्तार अपराधियों की निशानदेही पर पुलिस ने झारखंड के जसीडीह से ट्रक बरामद कर लिया गया है। इसके अलावा घटनाओं को अंजाम देने में इस्तेमाल किया जाने वाला पिकअप वैन भी पुलिस ने बरामद कर लिया है।
लेमुआबाद दरगाही टोला के दस अपराधी वाहन लुटेरा गिरोह में शामिल हैं। गिरोह का सरगना लेमुआबाद के सुबोध कुमार दूसरे अपराधियों को साथ लेकर लूट की घटनाओं को अंजाम देता था और लूटे गए माल को खपाता था। 11 दिसंबर को छड़ लदा ट्रक, 31 जनवरी को चावल लदा ट्रक और 11 फरवरी को छड़ लदा ट्रक लूटकर अपराधियों ने कोहराम मचा दिया था।
2 घंटे में ही बेच डाला था ट्रक पर लदा छड़
अपराधीइतने शातिर थे कि 11 फरवरी को छड़ लदे ट्रक को लूटकर दो घंटे के अंदर ही एक चिमनी भट्ठा पर छड़ को उतार दिया था जिसे बाद में बाढ़ के एक कारोबारी के यहां बेच दिया गया था। छड़ बेचने के एवज में दो लाख रुपए लुटेरों को मिला था। गिरोह के सरगना सुबोध कुमार ने लूट के पैसे से अपाचे बाइक खरीदी थी तथा बाकी रुपए गिरोह के सदस्यों में बांटे गए थे। पैसों के बंटवारे को लेकर गिरोह में फूट भी हो गई थी। चावल लदा ट्रक लूटकर अपराधियों ने चावल को देवघर में खपा दिया था और ट्रक को जसीडीह में लगा दिया गया था। जसीडीह में भी ट्रक को बेचने का जुगाड़ लगाया जा रहा था, लेकिन इसी बीच अपराधियों की गिरफ्तारी हो गई।
मोबाइल कॉल और तीनों मामलों का खुलासा
ट्रकलूट की तीनों घटनाओं के खुलासा और अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए मोकामा थाना की पुलिस परेशान थी। इसी बीच हाथीदह थानाध्यक्ष अविनाश कुमार के हाथ एक मोबाइल नंबर लगा। नंबर को संदिग्ध पाकर हाथीदह थाना ने मोबाइल सर्विलांस पर काम शुरू किया और मोकामा इंस्पेक्टर संदीप अनुसंधान के परंपरागत तरीकों में लगे रहे। मोबाइल सर्विलांस पर काम कर रहे हाथीदह एसएचओ की टीम ने अपराधी के मोबाइल का सीडीआर निकाला। घटना की रात अपराधियों के मोबाइल का लोकेशन मोकामा बाईपास पाया गया। मोबाइल सर्विलांस के सहारे अपराधियों के नेटवर्क को खंगाल रही पुलिस टीम ने जब अनुसंधान शुरू किया तो सारी कड़ियां आपस में जुड़ती चली गईं और पूरे मामले का पटाक्षेप हो गया।

Source : Dainik Bhaskar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *