Home » कृषि » जलजमाव से मुक्त होगा मोकामा का टाल क्षेत्र

जलजमाव से मुक्त होगा मोकामा का टाल क्षेत्र

पटना : मोकामा टाल क्षेत्र जलजमाव से मुक्त होगा. जल संसाधन विभाग ने जलजमाव से मुक्ति के लिए पहल शुरू कर दी है. मोकामा टाल क्षेत्र को जलजमाव से मुक्ति दिलाने के लिए विभाग 200 करोड़ रुपये खर्च करेगा. जल संसाधन मंत्री ललन सिंह इस मामले को खुद देख रहे हैं. ‘दाल का कटोरा’ कहे जानेवाले मोकामा टाल क्षेत्र में बड़े स्तर पर खरीफ और रबी की फसलें होती हैं, परंतु जलजमाव के कारण इस क्षेत्र में फसलें मारी जाती हैं. 1,062 किलोमीटर में फैले मोकामा टाल क्षेत्र में गरमी के मौसम में हरोहर और मोहाने नदियों से सिंचाई होती है. गाद जमा होने के कारण दोनों नदियां भी मोकामा टाल क्षेत्र में प्रचुर मात्रा में सिंचाई सुविधा मुहैया नहीं करा पा रही हैं.
जल संसाधन विभाग ने दोनों नदियों की उड़ाही कराने की भी निर्णय लिया है. दोनों नदियों की उड़ाही का काम फरवरी से शुरू हो गया है. नदियों की उड़ाही से टाल क्षेत्र के किसान दलहन खेती को उत्साहित हुए हैं.
पानी संचय करने का भी होगा प्रबंध
मोकामा टाल क्षेत्र के निचले इलाके को जलजमाव से मुक्ति दिलाने की भी विभाग ने कार्ययोजना बनायी है. टाल क्षेत्र के बालगुदड़ घाट पर फ्लड स्लुइश गेट लगाये जायेंगे. दोनों स्लुइश गेट गंगा, हरोहर व मोहाने नदियों पर लगाये जायेंगे. जल संसाधन विभाग सिर्फ टाल क्षेत्र में स्लुइश गेट ही नहीं लगवायेगा, बल्कि उनकी सुरक्षा का भी पुख्ता प्रबंध करेगा. मोकामा टाल क्षेत्र को जलजमाव से मुक्ति दिलाने के लिए आजादी के बाद से ही आंदोलन हो रहे हैं, परंतु संकट का स्थायी समाधान नहीं निकल पाया. अब जल संसाधन विभाग टाल क्षेत्र में पानी संचय करने और जरूरत पड़ने पर सिंचाई के लिए उसे खेतों में छोड़ने का भी इंतजाम करेगा. पानी संचय और उसकी निकासी में कहीं कोई बाधा न हो, इसके लिए विशेष सुरक्षा के भी प्रबंध किये जायेंगे.

Source : Prabhat Khabar

486171079-River_6

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *