Home » सामाजिक » मोकामा में विद्युतीकरण से हटाए गए स्थानीय ठेकेदार

मोकामा में विद्युतीकरण से हटाए गए स्थानीय ठेकेदार

एसडीओ ने की ग्रामीण विद्युतीकरण कार्यों की समीक्षा, काम में तेजी लाने का दिया निर्देश

मोकामा  . अनुमंडलदंडाधिकारी सुब्रत कुमार सेन द्वारा ग्रामीण विद्युतीकरण और विद्युत आपूर्ति व्यवस्था पर बुलाई गई समीक्षा बैठक में बिजली विभाग के अधिकारियों को जमकर फटकार लगाई गई। ग्रामीण विद्युतीकरण कार्य की धीमी रफ्तार से भड़के एसडीएम ने विद्युत विभाग के अधिकारियों को काम में तेजी लाने का निर्देश दिया।
मिल रही थीं शिकायतें
इसकेअलावा स्थानीय ठेकेदारों की लापरवाही तथा उनके पक्षपातपूर्ण काम करने के तरीके की मिली शिकायतों के मद्देनजर सभी स्थानीय ठेकेदारों को काम से अविलंब हटाने का भी निर्देश दिया। एसडीएम सुब्रत कुमार सेन ने बताया कि कई स्तरों पर विभिन्न गांवों और पंचायतों से शिकायतें मिल रही थी कि बिजली विभाग के ठेकेदार सिर्फ लापरवाही बरत रहे हैं बल्कि विद्युतीकरण के कार्यों में पक्षपातपूर्ण तरीके से काम किया जा रहा है। साथ ही मनमानी भी कर रहे थे।

बिजली बिल सुधारें, जले ट्रांसफार्मरों को समय से बदलेंंं
इसके अलावा मीटर रीडिंग और विद्युत बिल में गड़बड़ी को सुधारने तथा जले हुए ट्रांसफार्मरों को समयसीमा के अंदर बदलने का भी निर्देश दिया गया। विधान पार्षद नीरज कुमार ने बिजली विभाग के अधिकारियों को विद्युतीकरण कार्य शीघ्र संपन्न कराने को कहा तथा बताया कि हर घर बिजली सरकार के सात निश्चय में शामिल है और इसमें किसी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। मोकामा, घोसवरी और पंडारक प्रखंडों के ग्रामीण विद्युतीकरण तथा ग्रामीण और शहरी इलाकों में विद्युत आपूर्ति व्यवस्था की समीक्षा बैठक बुलाई गई थी। बैठक में तीनों प्रखंडों से जुड़े पावर सब स्टेशनों के कनीय अभियंता, सहायक अभियंता, कार्यपालक अभियंता और जनप्रतिनिधि शामिल थे। जदयू राज्य परिषद सदस्य दिलीप पटेल, धर्मराज प्रसाद, अशोक चंद्रवंशी, रौशन कुमार, रामशीष सहित अन्य मौजूद थे।

electricity_tariff

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *