Home » रोजगार समाचार » मोकामा में एलपीजी बॉटलिंग प्लांट को मंजूरी

मोकामा में एलपीजी बॉटलिंग प्लांट को मंजूरी

मोकामा . प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत राज्य में एलपीजी की बढ़ती खपत को देखते हुए पांच निजी कंपनियां बॉटलिंग प्लांट में निवेश करने की तैयारी में हैं। इन्हें एसआईपीबी ने मंजूरी दे दी है। उद्योग विभाग के प्रधान सचिव ने बताया कि एक बॉटलिंग प्लांट मोकामा और दो पश्चिम चंपारण में लगाए जाने का प्रस्ताव है। उन्होंने बताया कि सिलेंडर निर्माण करने वाली कंपनियों के भी निवेश प्रस्ताव को मंजूरी दी गई है। अभी राज्य में चार बॉटलिंग प्लांट कार्य रह रहे हैं। बेगूसराय में आईओसी, फतुहा में बीपीसीएल, आरा में एचपीसीएल और मुजफ्फरपुर में निजी बॉटलिंग प्लांट कार्य कर रहा है।

राज्यनिवेश प्रोत्साहन पर्षद (एसआईपीबी) ने 6465 करोड़ के निवेश प्रस्ताव को मंजूरी दी है। इनमें पांच एलपीजी बॉटलिंग प्लांट, 13 पीवीसी पाइप यूनिट, किशनगंज में मक्का आधारित स्टॉर्च फैक्ट्री, हॉलमार्क ज्वेलरी, राख से ईंट बनाने और एथनॉल निर्माण यूनिट प्रमुख हैं। नई औद्योगिक निवेश प्रोत्साहन नियमावली 2016 बनने के बाद एसआईपीबी की पहली बैठक विकास आयुक्त शिशिर सिन्हा की अध्यक्षता में शुक्रवार को हुई। इसमें 11 जनवरी, 2017 तक आए कुल 122 निवेश प्रस्तावों पर विचार किया गया।
उद्योग विभाग के प्रधान सचिव डॉ. एस सिद्धार्थ ने कहा कि पर्षद ने 109 प्रस्तावों को मंजूरी दी है। उन्होंने कहा कि सभी प्रस्ताव ऑनलाइन लिए गए थे। चयन में पूर्ण पारदर्शिता बरती गई है। अब एसआईपीबी की बैठक हर महीने होगी। अभी तक तीन महीने में एक बार होती रही है।
शराबबंदी के बाद इससे संबंधित चीजें निगेटिव सूची में
शराबबनाने वाली यूबी ग्रुप भी 309 करोड़ रुपए का निवेश प्रस्ताव दिया था, जिसे एसआईपीबी ने निरस्त कर दिया। दरअसल राज्य में शराबबंदी के बाद शराब से संबंधित चीजों को निगेटिव सूची में डाल दिया गया है। प्रधान सचिव ने बताया कि यूबी ग्रुप के निवेश प्रस्ताव में अल्कोहलिक और नॉन अल्कोहलिक वेबरेज बनाने का जिक्र किया गया है। कंपनी को अपनी स्थिति स्पष्ट करने के लिए कहा गया है। अगर कंपनी नॉन अल्कोहलिक वेबरेज बनाएगी तो उनके निवेश प्रस्ताव पर अगली बैठक में विचार किया जाएगा।
अबतक 7465 करोड़ का निवेश
राज्यमें अभी तक कुल 7465 करोड़ का निवेश हुआ है। जबकि निवेश के कुल 1881 प्रस्ताव आए थे। बाद में राज्य सरकार ने ऊर्जा क्षेत्र के 284956 करोड़ रुपए के निवेश प्रस्ताव को निरस्त कर दिया था। इसबारमंजूर प्रस्ताव : सामान्य-26,प्लास्टिक एंड रबर 15, खाद्य प्रसंस्करण-51, लघु यंत्र निर्माण-6, पर्यटन-4, सूचना प्रौद्योगिकी-2, ऊर्जा-1, प्राइवेट इंडस्ट्रियल पार्क-1

Source : Dainik Bhaskar

lpg_bottling

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *