Home » कृषि » बाढ़ नियंतण्र को 1191 करोड़ मंजूर, मोकामा टाल पर खर्च होंगे 188.50 करोड़

बाढ़ नियंतण्र को 1191 करोड़ मंजूर, मोकामा टाल पर खर्च होंगे 188.50 करोड़

बिहार राज्य बाढ़ नियंतण्रपार्षद की 53 वीं बैठक में लिया गया फैसला

पटना। बिहार राज्य बाढ़ नियंतण्रपार्षद की 53 वीं बैठक जल संसाधन मंत्री राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह की अध्यक्षता में शुक्रवार को सिंचाई भवन सभागार में हुई। बैठक में 2017 के संभावित बाढ़ प्रणव क्षेत्रों में 1191 करोड़ की लागत से 314 योजनाओं को मंजूरी दी गयी। बैठक में मोकामा टाल के 1.10 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में जलजमाव और जल निकासी के लिए 188.50 करोड़ रुपये की योजना की स्वीकृति दी गयी तो कोशी पूर्वी तटबंध पर पानी का दबाव कम करने के उद्देश्य से 40 करोड़ रुपये की लागत से नेपाल क्षेत्र में नदी में पायलट चैनल का निर्माण कराने का भी फैसला लिया गया।बैठक के बाद पत्रकारों को जल संसाधन मंत्री राजीव रंजन सिंह ने बताया कि मुख्य रूप से चार योजनाओं की स्वीकृति दी गयी है। इन योजनाओं में बक्सर कोईलवर गंगा, दॉया तटबंध में 05 अदद स्लुइस गेट का निर्माण एवं 06 किमी में नये तटबंध का निर्माण किया जाना है। इस पर कुल 40.58 करोड़ की राशि खर्च होगी। मोकामा टाल क्षेत्र में हरोहर नदी पर बलगूदर में एंटी फ्लड स्लूईस का निर्माण के अलावे खनुआ सोता, डुमना सोता, गायघाट सोता एवं लंगड़ी पईन पर भी एंटी फ्लड स्लूईस का निर्माण किया जायेगा। इस कार्य को कराने में 188.5 करोड़ की राशि खर्च होगी। प्रस्तावित अलीगढ़ मुस्लिम यूनिर्वसिटी एवं पुलिस लाईन, किशनगंज के सुरक्षात्मक कार्य के लिए 43.86 करोड़ की राशि स्वीकृत की गई। इस बैठक में कोशी बराज के डाउन स्ट्रीम में 17 किलोमीटर की लंबाई में नेचुरल चैनल को एक्टीवेट करने के लिए 40 करोड़ रुपये की राशि की स्वीकृति प्रदान दी गयी है। उन्होंने कहा कि बिहार राज्य बाढ़ नियंतण्रपार्षद की 52वीं बैठक में स्वीकृत दो योजनाओं यथा पथराहा छड़की और विशुनपुर छड़की की योजना को संशोधित कर 30 मीटर की चौड़ाई में पायलट चैनल का निर्माण, बोल्डर रिभैटमेंट, बोल्डर स्टड का निर्माण इत्यादि की स्वीकृति प्रदान की गई। इस पर 69.33 करोड़ की राशि खर्च होगी। इस्माईलपुर बिंद टोली बांध के सुदृढ़ीकरण एवं उच्चीकरण तथा स्परों का रेस्टोरशन इत्यादि कायरे के लिए संशोधित 51.9 करोड़ की राशि की स्वीकृति प्रदान की गई है। उन्होंने कहा कि विक्रमशिला सेतु के डाउन स्ट्रीम में अवस्थित चौरासी धार के ड्रेजिंग के लिए सीडब्लूपीआरएस, पूणो में मोडल टेस्ट किया जा रहा है। मोडल टेस्ट जल्द पूरा कराने के लिए विभाग द्वारा एक अभियंता की प्रतिनियुक्ति सीडब्लूपीआरएस, पूणो में किये जाने का निर्णय लिया गया है। बैठक में जल संसाधन विभाग के प्रधान सचिव अरुण कुमार सिंह, पथ निर्माण विभाग के सचिव पंकज कुमार, अध्यक्ष, गंगा बाढ़ नियंतण्रआयोग, पटना, मुख्य अभियंता, पूर्वी रेल, कोलकाता, अभियंता-प्रमुख इंदुभूषण कुमार, राम पुकार रंजन एवं राजेश कुमार, मुख्य अभियंता, बाढ़ नियंतण्रएवं जल निस्सरण हरिनारायण इत्यादि पदाधिकारी उपस्थित थे।
द सहारा न्यूज ब्यूरो

486171079-River_6

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *