Home » धर्म » नदी से निकला शिवलिंग

नदी से निकला शिवलिंग

ग्रामीणों ने शुरू की पूजा-अर्चना
 मोकामा। घोसवरी प्रखंड के तारतार गांव में मुहाने नदी से एक शिवलिंग प्रकट हुआ है। मुहाने नदी पूरी तरह सूखी हुई थी और उसी सूखी मुहाने नदी से ग्रामीणों को भगवान शिव की एक प्रतिमा मिली है। सूखी नदी में प्रकट हुए शिवलिंग का आकार छोटा है लेकिन उस पर ओम अंकित होने से लोग इसे दैवीय चमत्कार मान रहे हैं। सूखी नदी में शिवलिंग के प्रकट होने के बाद ग्रामीणों ने शिवलिंग को निकाल कर तारतर के बाबा बख्तौर स्थान के पास स्थापित किया है। जिस जगह पर शिव शिवलिंग को स्थापित किया गया है वहां पर आसपास के कई गांवों से लोगों का जुटना जारी है। तारतर निवासी मंटू यादव ने बताया कि शिवलिंग का प्रकट होना एक चमत्कार के तौर पर देखा जा रहा है और यही कारण है कि वहां पर लोग अपनी आस्था जताने और ईर के प्रति श्रद्धा सुमन अर्पित करने के लिए वहां जुट रहे हैं। मंटू यादव ने बताया कि सूखी नदी से जब शिवलिंग प्रकट हुआ तब उसी दिन टाल इलाके में हल्की बारिश हुई थी। सूखे की आशंका झेल रहे किसान अब इसे दैवीय चमत्कार के तौर पर देख रहे हैं। मुहाने नदी के किनारे बाबा बख्तौर स्थान के पास शिवलिंग को स्थापित किया गया है और वहां पर सैकड़ों महिलाएं पुरु ष कीर्तन और भजन में जुटे हुए हैं। मंटू यादव ने बताया कि गांव के रामाश्रय यादव मुहाने नदी को पार कर जा रहे थे और इसी दौरान उनके पैर में ठेस लगी। नीचे झुक कर उन्होंने देखा तो वहां पर एक शिवलिंग था। शिवलिंग के प्रकट होने की बात सुनकर काफी संख्या में लोग वहां जुट गए और फिर उसे लाकर बाबा बख्तौर स्थान के पास स्थापित किया गया। ग्रामीणों ने बताया दो महीने बाद शिवलिंग की प्राण प्रतिष्ठा की जाएगी। तारतर का माहौल पूरी तरह भक्तिमय हो गया है। ग्रामीणों ने बताया कि इस बार अच्छी बारिश होने की कामना लेकर लोग भगवान शिव की आराधना में जुटे हुए हैं तथा जिस तरह सूख चुकी मुहाने नदी से भगवान प्रकट हुए हैं उससे लोगों की प्रार्थना है कि इस बार अच्छी बारिश हो ताकि किसानों को राहत मिल सके।

Maha-Lingam

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *